PPF – सार्वजनिक भविष्य निधि

PPF खाता क्यों खोलें ?

कम जोखिम वाले व्यक्तियों के लिए सार्वजनिक भविष्य निधि योजना एक आदर्श योजना है। चूंकि यह योजना सरकार द्वारा अनिवार्य है,पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) फिक्स्ड इनकम के उन साधनों में है जिनका ब्याज सबसे अधिक है। लंबी अवधि के लिए एक बेहतर निवेश विकल्प है। इसमें निवेश न केवल सुरक्षित है, बल्कि इसमें टैक्स छूट में कई तरह के फायदे मिलते हैं और कोई जोखिम नहीं होता है। पीपीएफ खाते में निवेश किए गए फंड बाजार से जुड़े नहीं हैं।
निवेशक अपने वित्तीय और निवेश पोर्टफोलियो में विविधता लाने के लिए सार्वजनिक भविष्य निधि को शामिल कर सकते हैं। गिरावट के समय, PPF खाते सालाना निवेश पर स्थिर रिटर्न प्रदान कर सकते हैं।

PPF खाते की विशेषताएं

सार्वजनिक भविष्य निधि योजना की प्रमुख विशेषताओं को निम्नानुसार सूचीबद्ध किया जा सकता है –

मैच्योरिटी के बाद 5-5 साल के लिए मिलेगा एक्सटेंशन

Public Provident Fund खाते में किए गये निवेश पर 15 साल की लॉक-इन अवधि होती है, जिसके पहले धन पूरी तरह से वापस नहीं लिया जा सकता है। लॉक-इन अवधि समाप्त होने के बाद एक निवेशक इस कार्यकाल को 5 साल तक और आगे बढ़ाने का विकल्प चुन सकता है।

मुख्य राशि ( Principal amount)

भविष्य निधि योजना में न्यूनतम 500 रुपये से लेकर अधिकतम 1.5 लाख रुपये सालाना तक निवेश किया जा सकता है। यह निवेश एकमुश्त या किस्तों मे भी किया जा सकता है। हालांकि, एक व्यक्ति पीपीएफ खाते में केवल 12 वार्षिक किस्त भुगतान के लिए पात्र है। अपने पीपीएफ खाते मे हर साल पैसा डालते रहें जिससे आपका खाता सक्रिय रहे। निष्क्रिय हुए खाते को जुर्माना भरके चालू किया जा सकता हैI

निवेश पे ऋण (Loan against Investment)

सार्वजनिक भविष्य निधि, किए गये निवेश राशि के मुकाबले ऋण की सुविधा देती है।
पीपीएफ से लिए गये ऋणों का अधिकतम कार्यकाल 36 महीने है। इसके अंतर्गत खाते में उपलब्ध कुल राशि का केवल 25% या उससे कम का ऋण ही मिल सकता है।

कौन खोल सकता है पीपीएफ अकाउंट?

देश में रहने वाले भारतीय नागरिक अपने नाम से पीपीएफ खाता खोल सकते हैं। नाबालिगों के लिए उनके नाम पर केवल माता-पिता द्वारा संचालित सार्वजनिक भविष्य निधि खाता ही रखने की अनुमति है I गैर-आवासीय भारतीयों को एक नया पीपीएफ खाता खोलने की अनुमति नहीं है। हालाँकि, उनके नाम पर कोई भी मौजूदा खाता कार्यकाल पूरा होने तक सक्रिय रहता है।

पीपीएफ खाते पर ब्याज

सार्वजनिक भविष्य निधि योजना पर देय ब्याज केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित किया जाता है। इसका उद्देश्य देश के बैंकों द्वारा बनाए गए नियमित खातों की तुलना में अधिक ब्याज प्रदान करना है।पीपीएफ पर मिलने वाली ब्याज दर फिक्स नहीं है इसकी ब्याज दर रोज-रोज नहीं बदलती है बल्कि हर तिमाही की शुरुआत में फिक्स की जाती है।पीपीएफ पर सालाना चक्रवृद्धि ब्‍याज मिलता है. लेकिन, इसका कैलकुलेशन हर महीने कि 5 तारीख और अंतिम तारीख के बीच मौजूद मिनिमम बैलेंस पे होता है। अगर आप 5 तारीख से पहले निवेश करते हैं तो आपको निवेश पर उस महीने का भी ब्याज मिलेगा।

PPF खाता कैसे खोलें ?

सार्वजनिक भविष्य निधि ख़ाता ऑफ़लाइन और ऑनलाइन दोनों प्रक्रियाओं से खुलवाया जा सकता है , बशर्ते पात्रता के मानदंडों के सभी शर्तों को पूरा किया गया हो I पीपीएफ को किसी चुने हुए बैंक या डाकघर के पोर्टल पर ऑनलाइन जाकर सक्रिय किया जा सकता है।

सार्वजनिक भविष्य निधि खाते की सक्रियता के समय निम्नलिखित दस्तावेज देने होंगे –

KYC क्या है ? KYC कैसे पूरा करें …
  • केवाईसी दस्तावेज (आधार, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, आदि।)
  • पैन कार्ड।
  • आवासीय पते का प्रमाण।
  • नॉमिनेशन फॉर्म
  • पासपोर्ट साइज फोटो।
TAX BENEFITS

पीपीएफ खाते में निवेशित मूल राशि पर आयकर छूट लागू होती है। 1961 के आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत टेक्स मे छूट के लिए निवेश के पूरे मूल्य का दावा किया जा सकता है। हालांकि, यह ध्यान में रखा जाना चाहिए कि सालाना 1.5 लाख रुपये से अधिक डाले हुए अतिरिक्त राशि पर ब्याज नहीं मिलेगा I

PPF पर अर्जित कुल ब्याज को भी किसी भी टेक्स कॅल्क्युलेशन से छूट दी गई है। इसलिए, मेचुरिटी पूर्ण होने पर पीपीएफ खाते से निकाली गई पूरी राशि पर कोई टेक्स नही लगता यही कारण है जो कि सार्वजनिक भविष्य निधि योजना निवेश के लिए आकर्षक बनाती है।

PPF से पैसा कब निकाल सकते हैं ?

PPF निवेश की गई मूल राशि पर 15 साल का अनिवार्य लॉक इन लगाया जाता I विशिष्ट या आपात स्थितियों के मामले में, आंशिक निकासी की जा सकती है। हालांकि, यह राशि खाते के 5 साल पूरे होने के बाद ही निकाली जा सकती है। कुल शेष का 50% तक एक लेनदेन में निकाला जा सकता है I

www.moneypoonji.com  का उद्देश्य आप तक पर्सनल फाइनेंस से जुड़ी हर बात को सरलता से आप तक पहुँचना है , जिससे आप अपने धन का सही मॅनेज्मेंट कर पाएँ व अपने जीवन मे  Financial Goals   पूरा कर सकें | ब्लॉग मे दी सभी सामग्री केवल जानकरी के उद्देश्य से है। सभी जानकारी लेखक के अपने अनुभव व ज्ञान पर आधारित है। ब्लॉग के मालिक यहाँ लिखी जानकारी की पूर्णता व सटीकता के लिए प्रतिबद्ध नही है। पाठक निवेश सम्बन्धी निर्णय लेने पहले अपने वित्तीय सलाहकार की मदद् ले या स्वयं शोध करके निर्णय ले। moneypoonji के लेखक इस ब्लॉग में किसी भी पूर्व सुचना के कोई भी बदलाव करने के लिए पूर्णतः स्वतंत्र है।

आप इस वेबसाइट ब्लॉग को SUBSCRIBE जरुर करें, ताकि आपको नए UPDATES मिलते रहे,

हमारे साथ जुड़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद.

Leave a Reply

%d bloggers like this: