COVID -19 के लिए ” Corona Kavach “

स्वास्थ्य बीमा एक गरिमामय जीवन जीने और बेहतर चिकित्सा सुविधाओं तक पहुंच बनाने के लिए ज़रूरी है . कोरोनोवायरस के प्रकोप के बाद यह अचानक सुर्खियों में आ गया है। हेल्थकेयर उपचार के उपर होने वाले खर्च हर साल कम से कम 15 प्रतिशत की तेजी से बढ़ रही है। विशेष रूप से बड़े शहरों में, उच्च होती जा रही है और 10-15 लाख रुपये का आदर्श कवर होना चाहिए।

कोविद-19 वायरस के प्रकोप मे उचित बीमा राशि के साथ स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी होना भी महत्वपूर्ण है। इसलिए, भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण ( IRDAI ) ने कोरोना कवच पॉलिसी शुरू करने की घोषणा की है और भारत में सभी सामान्य और स्टैंडअलोन स्वास्थ्य बीमा कंपनियों के लिए अपने ग्राहकों को यह पॉलिसी प्रदान करना अनिवार्य कर दिया है।

Corona Kavach” पॉलिसी क्या है?

कोरोना कवच एक स्टॅंडर्ड क्षतिपूर्ति-आधारित पॉलिसी है, जो कोविद संक्रमण के उपचार के साथ-साथ पहले से मौजूद बीमारियों सिर्फ 15 दिनों की शुरुआती प्रतीक्षा अवधि के बाद संक्रामक बीमारी के उपचार के साथ कवर की जाएगी। इस पॉलिसी मे अस्पताल के कमरे के किराए के उपर होने वाले खर्च की कोई उप-सीमा नही है , जो स्पष्ट रूप से उपचार को कवर करने के अलावा, जेब खर्च से बाहर बढ़ा सकता है।

कोरोना कवच पॉलिसी की विशेषताएं :
बीमित राशि: कोई व्यक्ति 50,000 रुपये से 5 लाख रुपये के कवर का विकल्प चुन सकता है (50000 रुपये के मल्टिपल में) कोरोना कवच पॉलिसी व्यक्तिगत और पारिवारिक फ्लोटर आधार पर उपलब्ध होगी।

कार्यकाल: ये पॉलिसी को तीन अवधियों मे लिया जा सकता है जो , तीन और आधे महीने (105 दिन), छह और आधे महीने (195 दिन), नौ और आधे महीने (285 दिन) हो सकते हैं।

योग्यता: प्रस्तावक के रूप में पॉलिसी का लाभ 18 वर्ष से 65 वर्ष की आयु के बीच के व्यक्तियों द्वारा लिया जा सकता है। अधिक उम्र के साथ प्रस्तावक स्वयं को कवर किए बिना, परिवार के लिए पॉलिसी प्राप्त कर सकता है।

प्रतीक्षा अवधि: 15-दिवसीय वेटिंग पीरियड: पॉलिसी शुरू होने की तारीख से 15 दिनों के भीतर कोविद के उपचार से संबंधित खर्चों को बाहर रखा जाएगा।

प्रीमियम : कोरोना कवच स्टॅंडर्ड पॉलिसी के तहत लिया गया प्रीमियम नियमित स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की तुलना में बहुत कम है।

अस्पताल में भर्ती होने का समय: न्यूनतम 24 घंटे की लगातार अवधि के लिए अस्पताल में भर्ती होने के बाद ही कोविद के लिए चिकित्सा खर्च स्वीकार्य होगा

कोरोना कवच पॉलिसी के उद्देश्य से, सरकार द्वारा कोविद – 19 के उपचार के लिए एक अस्पताल के रूप में नामित किसी भी सेट अप को भी अस्पताल के रूप में माना जाएगा।

“Corona Kavach” क्या – क्या कवर करेगा ?

होम केयर ट्रीटमेंट कवर

यदि आप घर पर रहकर ही कोरोनावायरस का इलाज कर रहे हैं, तो 14 दिनों तक के लिए स्वास्थ्य निगरानी से संबंधित चिकित्सा व दवा के खर्चों को कवर किया जाएगा।

प्री हॉस्पिटलाइजेशन व पोस्ट-हॉस्पिटलाइज़ेशन कवर

अस्पताल में भर्ती होने से पहले, डॉक्टर के परामर्श, जांच और जाँच की ओर चिकित्सा खर्च होते हैं। अस्पताल में भर्ती होने से 15 दिन पहले ऐसे खर्चों व अस्पताल से छुट्टी के 30 दिन बाद तक के चिकित्सा खर्च को कवर किया जाएगा I

अस्पताल में इलाज़ पर होने वाला खर्च

इसमे बेड-चार्ज, नर्सिंग चार्ज, रक्त परीक्षण, पीपीई किट, ऑक्सीजन,एनेस्थीसिया, रक्त, ऑक्सीजन, ऑपरेशन थिएटर शुल्क और डॉक्टर परामर्श शुल्क से लेकर ICU , ICCU और वेंटिलेटर्स सब कुछ कवर हो जाता है।

सड़क एम्बुलेंस कवर

अस्पताल मे भर्ती के दौरान एम्बुलेंस में घर से अस्पताल या अस्पताल से घर जाने के लिए 2000 रुपये भुगतान किए जाएँगे I

आयुष उपचार (Ayush Treatment )

आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, होम्योपैथी की दवाओं के तहत कोविद-19 के लिए रोगी की देखभाल के लिए किए गए चिकित्सा खर्चों को पॉलिसी अवधि के दौरान बीमा राशि के रूप में कवर किया जाएगा।

Corona Rakshak ” पॉलिसी क्या है?

कोरोना रक्षक एक स्टॅंडर्ड लाभ-आधारित पॉलिसी है, जो कोविद डाइयग्नोसिस से पूर्व-स्वीकृत एकमुश्त राशि प्रदान करती है। यह पूर्व-बीमित स्वास्थ्य घटना के दौरान अतिरिक्त पॉलिसियों के पूरक के रूप में उपयोग किया जा सकता है।कोरोना रक्षक पॉलिसी की कवर राशि 50,000 रुपये से 2.5 लाख रुपये के बीच होगी।

यदि पॉलिसीधारक कोविद-19 उपचार के लिए कम से कम 72 घंटे के लिए अस्पताल में भर्ती है, तो कोरोना रक्षक पूरी बीमा राशि का भुगतान करेगा।

उपर्युक्त मे दी सभी सामग्री केवल जानकरी के उद्देश्य से है। सभी जानकारी लेखक के अपने अनुभव व ज्ञान पर आधारित है। बीमा पॉलिसी के बारे में अधिक जानने के लिए, इसकी प्रतीक्षा अवधि और चिकित्सा उपचार के लिए बीमा राशि, कृपया पॉलिसी के शब्दों को देखें। पाठक पॉलिसी खरीद सम्बन्धी निर्णय लेने पहले अपने बीमा सलाहकार की मदद् ले या स्वयं शोध करके निर्णय ले।

Leave a Reply

%d bloggers like this: