लागू हो गया पुराना नियम, कटेगा 12 फ़ीसदी EPF

लागू हो गया पुराना नियम, कटेगा 12 फ़ीसदी EPF

देशभर में कोरोना वायरस महामारी के चलते लगे लॉकडाउन की वजह से सरकार ने आर्थिक मोर्चों पे कई तरह की छूटों का ऐलान किया था। अब एक अगस्त से ईपीएफ 12 फीसद कटेगा। मई महीने में 3 महीनों के लिए सरकार ने पीएफ योगदान को 12% से घटाकर 10 फीसदी करने का फैसला किया था। अब अगस्त माह से ये छूट समाप्त हो गई है I लागू हो गया पुराना नियम, कटेगा 12 फ़ीसदी EPF I

इसलिए घटाया गया था ईपीएफ कॉन्ट्रिब्यूशन

सरकार ने मई में आर्थिक पैकेज का एलान करते समय ईपीएफ कॉंट्रिब्यूशन घटाकर 20 फ़ीसदी कर दिया था I जिससे सीधे तौर पर कर्मचारियों और कंपनियों को राहत दी थी। सरकार ने 4.3 करोड़ कर्मचारियों और 6.5 लाख संस्थानों के लिए 3 महीने तक ईपीएफ योगदान को 12-12 फ़ीसदी से घटाकर 10-10 फ़ीसदी कर दिया गया था। मई, जून और जुलाई 2020 के लिए ईपीएफ योगदान 24 फ़ीसदी से घटकर 20 फ़ीसदी हो गया था। अब अगस्त से कर्मचारी भविष्य निधि संगठन योगदान दोबारा 24 फीसदी (12 फ़ीसदी कर्मचारी और 12 फ़ीसदी नियोक्ता के लिए ) कर दिया गया है I

क्या है ईपीएफ योगदान का नियम ?

ईपीएफ स्कीम के नियमों के अनुसार , कर्मचारी हर महीने अपनी सैलरी ( बेसिक वेतन + डीए ) का 12 फ़ीसदी अपने ईपीएफ अकाउंट में योगदान करता है। इतना ही योगदान नियोक्ता को भी करना होता है।इस तरह कुल मिलाकर कर्मचारी के ईपीएफ अकाउंट में 24 फ़ीसदी का योगदान होता है। नियोक्ता द्वारा किए गये 12 योगदान का 3.67 फ़ीसदी हिस्सा ईपीएफ अकाउंट में जाता है। शेष बचा , नियोक्ता का 8.33 फ़ीसदी हिस्सा एंप्लॉयज पेंशन स्कीम (ईपीएस) अकाउंट में जमा होता है।

सरकार ने ईपीएफ कॉन्ट्रिब्यूशन क्यों घटाया ?

सरकार द्वारा की गई इस घोषणा का उद्देश्य कोरोना महामारी के दौरान आर्थिक संकट से जूझ रहे कंपनियों और कर्मचारियों को राहत देना था I सरकार द्वारा ईपीएफ योगदान में कटौती का मकसद कर्मचारियों की घर ले जाने वाले वेतन को बढ़ाना और नियोक्ताओं को पीएफ बकाया के भुगतान के मोर्चे पर राहत देना था। लेकिन अब एक बार फिर से लागू हो गया पुराना नियम, कटेगा 12 फ़ीसदी EPF I

कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) बैलेंस चेक करना चाहते हैं?

एसएमएस के जरिए पता करें अकाउंट बैलेंस

आप अपना बैलेंस जानने के लिए ईपीएफओ एसएमएस सेवा का भी उपयोग कर सकते हैं। मैसेज के जरिए ईपीएफओ बैलेंस जानने के लिए आपका मोबाइल नंबर यूनिवर्सल अकाउंट नंबर ( UAN ) के साथ रजिस्टर्ड होना जरूरी है। एसएमएस के जरिए ईपीएफ बैलेंस चेक करने के लिए अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से मैसेज में EPFOHO UAN ENG लिख के 7738299899 पर भेजना होगा। मैसेज की सुविधा अँग्रेज़ी, हिन्दी के साथ अन्य भाषाओं में भी उपलब्ध है।

मिस्ड कॉल सेवा: यूएएन पोर्टल पर पंजीकृत सदस्य अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर से ‘011-22901406’ पर मिस्ड कॉल देकर ईपीएफओ से प्राप्त कर सकते हैं I

वेबसाइट पर ऐसे चेक कर सकते हैं ईपीएफ का बैलेंस

ईपीएफओ सदस्य अपने यूएएन और पासवर्ड का उपयोग करके – www.epfindia.gov.in पर लॉग इन करना होगा। इससे आप अपनी पासबुक या अकाउंट स्टेटमेंट देख सकते हैं। पढ़ें : Online EPF Withdrawal कैसे करें ?

Leave a Reply

%d bloggers like this: