राष्ट्रीय बचत पत्र (NSC)|National Saving Certificate

राष्ट्रीय बचत पत्र | National Saving Certificate

राष्ट्रीय बचत पत्र भारत सरकार की एक पहल पर एक निश्चित आय निवेश योजना है जिसे आप किसी भी डाकघर में आसानी से खोल सकते हैं। यह एक बचत बांड योजना है जो ग्राहकों को धारा 80 सी के तहत आयकर पर बचत करते हुए मुख्य रूप से मध्यम आय वाले निवेशकों को निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करती है पब्लिक प्रॉविडेंट और पोस्ट ऑफिस एफडी के जैसे यह योजना भी एक निश्चित आय वाला साधन, सुरक्षित और कम जोखिम वाला उत्पाद है। वे पांच साल की निश्चित मेचुरिटी अवधि के साथ आते हैं। इसमें आपको टैक्स सेविंग के साथ सुरक्षित निवेश और गारंटी रिटर्न का लाभ मिलता है। वर्तमान मे एन्स्सी मे मिलने वाला ब्याज 6.8% है I

एनएससी में किसे निवेश करना चाहिए?

यदि आप एक ऐसे निवेश की तलाश कर रहें हैं जो एक स्थिर इनकम देने वाला सुरक्षित निवेश हो जो आपके टैक्स बचत भी देता हो , आप इस योजना का विकल्प चुन सक्ते हैं I NSC गारंटीकृत ब्याज के साथ आपके पैसे को संरक्षण प्रदान करता है। हालांकि, ज्यादातर फिक्स्ड इनकम स्कीमों की तरह, वे टैक्स-सेविंग म्यूचुअल फंड्स और नेशनल पेंशन सिस्टम जैसे महंगाई को मात देने वाले रिटर्न नहीं दे सकते। सरकार ने राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र को व्यक्तियों के लिए बचत योजना के रूप में बढ़ावा दिया है।

राष्ट्रीय बचत पत्र के लिए योग्यता

सभी भारतीय निवासी एनएससी में निवेश करने के लिए पात्र हैं।इस योजना का लाभ 18 साल से कम उम्र के लोगों को भी मिल सकता है यानि कि इस योजना से नाबालिगों को भी लाभ मिलेगा। इसके लिए उनके अभिभावकों को अपने 18 साल से कम उम्र के बच्चों के नाम पर राष्ट्रीय बचत पत्र खरीदना होगा। वहीं NRI (अप्रवासी भारतीय) और हिंदू अनडिवाइडेड फैमिली (HUF) इस स्कीम का लाभ नहीं मिल सकता है।

आप इसे कैसे और कहां से खरीद सकते हैं?

National Saving Certificate को किसी भी डाकघर से आवश्यक केवाईसी दस्तावेज जमा करने पर खरीदा जा सकता है। इसे एक निवेशक द्वारा स्वयं या नाबालिग की ओर से या किसी अन्य वयस्क के साथ संयुक्त खाते के रूप में खरीदा जा सकता है।

Risk free investment: निवेश के 6 बेहतरीन विकल्प

एनएससी के लिए आवश्यक दस्तावेज

नीचे एनएससी में निवेश करने के लिए आवश्यक KYC दस्तावेज प्रस्तुत किए गए हैं, जमा करने पर इसे किसी भी डाकघर से आसानी से खरीदा जा सकता है।

  • एनएससी आवेदन पत्र।
  • मूल पहचान प्रमाण प्रदान करने के लिए निवेशक
  • पासपोर्ट
  • स्थायी खाता संख्या (पैन) कार्ड
  • वोटर आई.डी.
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • सत्यापन के लिए वरिष्ठ नागरिक आईडी, या सरकारी आईडी।
  • तस्वीर।
  • चेक के साथ बिजली का बिल, पासपोर्ट, बैंक स्टेटमेंट जैसे एड्रेस प्रूफ।

राष्ट्रीय बचत पत्र में निवेश से लाभ

राष्ट्रीय बचत पत्र एक टैक्स सेविंग स्कीम है, इसमे निवेश करने वाला व्यक्ति अपना टैक्स बचा सकता है. ये राष्ट्रीय बचत पत्र बॉन्ड खरीद कर ,आप आयकर के अधिनियम 80सी के तहत टैक्स बचा सकते , हालांकि, यह छूट 1.5 लाख रुपये तक के निवेश पर ही मिलती है.एनएससी यानि नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर बैंक और फाइनेंशियल संस्थानों से लोन लिया जा सकता है। इसके अलावा राष्ट्रीय बचत पत्र में चेकबुक की सुविधा भी मिलती है। राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र सभी भारतीय डाकघरों में उपलब्ध हैं और इसलिए , इन्हें आसानी से खरीदा जा सकता है I ये सर्टिफिकेट नाबालिग के नाम से भी खरीदे जा सकते हैं

मेच्योरिटी

राष्ट्रीय बचत पत्र की मेच्योरिटी अवधि 5 साल की है। ज़रूरत पड़ने पर आप कुछ शर्तों को पूरा करके 1 साल की मेचुरिटी अवधि के बाद खाते की राशि को निकाल सकते हैं। राष्ट्रीय बचत पत्र में ब्याज दर हर तिमाही में बदली या निर्धारित की जाती हैं। वर्तमान मे NSC मे मिलने वाला ब्याज 6.8% है I कंपाउंडिंग की शक्ति के कारण एन्स्सी मे मिलने वाला ब्याज सालाना चक्रवृद्धि हो जाता है , लेकिन मेचुरिटी अवधि पर ही देय होगा।

निवेश सीमा

राष्ट्रीय बचत पत्र में बिना किसी अधिकतम सीमा के शुरुआती निवेश के रूप में आप 100 रुपये से और फिर इसी राशि के गुणांक में 100, 500, 5000, 10000 रुपए तक की राशि में निवेश कर सकते हैं।

डुप्लीकेट नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट जारी करना

यदि मूल एनएससी प्रमाणपत्र खो जाता है, चोरी हो जाता है, नष्ट हो जाता है, तो आप जारी किए गए डुप्लिकेट प्रमाणपत्र प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको केवल NC-29 को भरना है और पोस्ट ऑफिस में जमा करना है I


आप इस वेबसाइट ब्लॉग को SUBSCRIBE जरुर करें, ताकि आपको नए UPDATES मिलते रहे,

हमारे साथ जुड़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद.


Leave a Reply

%d bloggers like this: